Follow by Email

Thursday, 4 January 2018

"सोरत-र -हाल बनाए नहीं जाते हुज़ूर"



जब कोई गुल चमन से चला जाता है,माली परेशान सा हो जाता है। 

जब कोई अपना पराया कर जाता है,दिल बेचैन सा हो जाता है। 

सोरत-र -हाल बनाए नहीं जाते हुज़ूर, मगर 

जब कोई मुहिब दूर चला जाता है ,मन तन्हा सा हो जाता है ,




गुल:Flower
चमन:Garden
मुहिब :Friend/Dost
सोरत-र -हाल : Distance/Faasle